PATNA: जंगल जैसा नजर आ रहा है पटना का मोइनुल हक़ स्टेडियम.

0
221

न्यूज डेस्क,पटना: आईसीसी विश्व कप मैच और सैकड़ों घरेलू क्रिकेट मैच आयोजित कर चुका पटना का प्रसिद्ध मोइनुल हक़ स्टेडियम इस समय जंगल जैसा बन चुका है। जहां मैदान और स्टैंड्स को पूरी तरह ऊंची ऊंची घास और ने ढक दिया है।
क्रिकेट एसोसिएशन बिहार के सचिव आदित्य वर्मा ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली को पत्र लिखकर मोइनुल हक़ स्टेडियम खराब हालत की तरफ उनका ध्यान दिलाया है।

उन्होंने साथ ही में मोइनुल स्टेडियम ग्राउंड की तस्वीरें भी साझा की है जिसमें पूरा स्टेडियम  जंगल की तरह नजर आ रहा है। पूरे मैदान पर आपको बड़ी-बड़ी घास उगी हुई नजर आएंगी। मैदान में पिच कहां है उसका कोई अता पता ही नहीं है। स्टेडियम की हालत इतनी खराब है कि लोग उसे देखकर यह नहीं बोलेंगे कि यह पहले स्टेडियम का ग्राउंड हुआ करता था।

आइए जानते हैं मोइनुल हक़ स्टेडियम के बारे में।

यह वही चिड़िया में जहां 1996 के आईसीसी विश्व कप का केन्या और जिंबाब्वे का मैच आयोजित हुआ था। यहां रणजी ट्रॉफी, देवधर ट्रॉफी, दिलीप ट्रॉफी, महिला टेस्ट क्रिकेट, भारत और पाकिस्तान अंडर-19 टेस्ट मैच भी आयोजित हो चुका है।

आपको बताते चलें कि सौरव गांगुली भी अपने दिनों में इस मैदान पर खेल चुके हैं। पिछले साल इस मैदान पर रणजी अंडर 19 और अंडर 23 के मैच आयोजित हुए थे।

क्या लिखा गया है पत्र में।

आदित्य ने गांगुली को अपने पत्र में लिखा है कि बिहार क्रिकेट एसोसिएशन बीसीसीआई से संबंध है और उसे बीसीसीआई से अनुदान भी मिलता है लेकिन बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के मौजूदा पदाधिकारियों ने आधारभूत ढांचे के विकास के बजाय अन्य गतिविधियों में इस पैसे का इस्तेमाल किया है।
जिसका जीता जागता उदाहरण मोइनुल हक़ स्टेडियम की अभी की स्थिति है। यहां पर खेल रहे खिलाड़ियों को उनकी मैच फीस टीए – डीए भी नहीं मिल पाता है। उन्होंने बीसीसीआई स्टेडियम की मौजूदा हालत पर गौर करने का अनुरोध किया है। साथ ही उन्होंने इसकी हालत सुधारने की भी अपील की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here